Skip to main content
 

मुख्‍य योजना के बारे में

मुख्य योजना एक गतिशील दीर्घकालिक नियोजन दस्तावेज है जो भविष्य की वृद्धि और विकास को निर्देशित करने के लिए एक वैचारिक ले-आउट प्रदान करता है। मुख्य योजना भवनों, सामाजिक हालातों और उनके परिवेश के बीच संबंध स्थापित करने के बारे में है। मुख्य योजना में स्थल की आबादी, अर्थव्‍यवस्‍था, आवास, परिवहन, सामुदायिक सुविधाओं और भूमि उपयोग हेतु विश्लेषण करना, सिफारिश करना तथा प्रस्ताव देना शामिल है।

  • मुख्य योजना में विकास नीति और उसके कार्यान्वयन के भावी निर्देश शामिल हैं।
  • यह निर्धारित करता है कि भविष्य में एक विशेष क्षेत्र कैसे विकसित और पुनर्विकसित किया जा सकता है।
  • समय के साथ विकास और परिवर्तन का प्रबंधन करने के लिए उद्देश्य और कार्य का निर्धारण करने हेतु स्तरीय योजना बनाना।
  • एक प्रक्रिया जो यह परिभाषित करती है कि किसी स्थान के बारे में क्या महत्वपूर्ण है और इसके स्‍वरूप और उसकी गुणवत्ता को कैसे संरक्षित, सुधारा और बढ़ाया जा सकता है।
  • शहरी वातावरण की स्थिति को निर्धारित करने में मुख्य योजना की महत्वपूर्ण भूमिका हो सकती है।
  • मुख्य योजना आमतौर पर आने वाले 20 वर्ष हेतु तैयार की जाती है।
  • अभी तक, दिल्ली की तीन मुख्य योजनाएं हैं, अर्थात दि.मु.यो.-1962, दि.मु.यो.-2001 और दि.मु.यो.-2021 इसकी साक्षी रही है।
  • वर्तमान में दि.वि.प्रा. वर्ष-2041 के लिए चौ‍थी मुख्‍य योजना तैयार कर रहा है।